Maharashtra News: महाराष्ट्र के राजनीतिक गलियारे में यह चर्चा जोरों पर है कि मानसून के बाद अजित पवार (Ajit Pawar) महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की कमान संभालेंगे. वहीं, विपक्षी दलों के नेताओं द्वारा भी अलग-अलग तारीखें बताई जा रही हैं लेकिन गुरुवार को डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने विधानसभा में अपने अंदाज में जवाब देकर साफ कर दिया है कि सीएम पद पर कोई बदलाव नहीं होना जा रहा है. फडणवीस ने कहा कि 2019 के बाद कई बदलाव हुए हैं लेकिन अब कोई बदलाव नहीं होने वाला है और ऐसा कहकर उन्होंने अजित पवार के सीएम बनने की चर्चाओं पर एक तरह से विराम लगा दिया है.

देवेंद्र फडणवीस सदन में विपक्ष के नेता विजय वडेट्टीवार को बधाई देते कहा, ”2019 एक खास साल था.  2019 में कई रिकॉर्ड बने. एक रिकॉर्ड मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नाम है. 2019 के हीरो एकनाथ शिंदे हैं और अब दूसरे हीरो अजित पवार हैं. उद्धव ठाकरे सीएम बने, अजित पवार पहले डिप्टी सीएम बने,और फिर विपक्ष के नेता और अब  डिप्टी सीएम हैं. प्रदेश की जनता ने बहुत बदलाव देखे हैं लेकिन अब कोई बदलाव नहीं होगा.”

महायुति के सीएम बने रहेंगे एकनाथ शिंदे
बता दें कि कुछ दिन पहले मीडिया के सामने फडणवीस ने यह साफ कर दिया था कि महायुति के सीएम एकनाथ शिंदे ही रहेंगे और अब उन्होंने यही बात विधानसभा में साफ कर दी है.  वहीं, दो दिन पहले अजित पवार ने पुणे में अपना पक्ष रखा था. अजित पवार ने कहा था कि ”राज्य के सीएम एकनाथ शिंदे हैं. मैं और देवेंद्र फडणवीस दोनों डिप्टी सीएम के तौर पर काम कर रहे हैं. इसलिए हमें जो जिम्मेदारी मिली है, उसे हम ठीक से निभाएं.” बता दें कि इस बीच विपक्षी कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण और शिवसेना सांसद संजय राउत ने दावा किया कि बीजेपी ने अजित पवार को सीएम पद की पेशकश की है. 

य़े भी पढ़ें- Bombay High Court: पंडाल लगाकर सड़क और फुटपाथ को नुकसान पहुंचाया तो होगी कार्रवाई, बॉम्बे HC का BMC को निर्देश

 



Source link