Dubai Women Kabaddi Final: दुबई ने दुनिया के पहले अंतरराष्ट्रीय महिला कबड्डी फाइनल की मेजबानी की, जिसमें पंजाब पैंथर्स बनाम उमा कोलकाता शामिल था. यह मैच उमा कोलकाता टीम के चैंपियन बनने के साथ समाप्त हुआ, जिसने ₹1 करोड़ का बड़ा पुरस्कार हासिल किया. स्पर्धा में पंजाब टीम ने सराहनीय कौशल का प्रदर्शन किया और 50 लाख का पुरस्कार प्राप्त करते हुए दूसरा स्थान अर्जित किया.

यह टूर्नामेंट 12 दिनों तक चला और इसमें विभिन्न राज्यों का प्रतिनिधित्व करते हुए भारत की आठ टीमों ने भाग लिया. अल मटिया समूह के अध्यक्ष और सीईओ जुमा अल मदनी, इंदौर के मेयर पुष्यमित्र भार्गव, महिला कबड्डी लीग के निदेशक प्रदीप कुमार नेहरा और जीबीएफ मध्य पूर्व के अध्यक्ष डॉ. सुनील मांजरेकर और चंद्रशेखर भाटिया जैसे प्रमुख भारतीय प्रवासी सहित प्रतिष्ठित हस्तियां उपस्थित रहीं. इस कार्यक्रम का सफल आयोजन महिला कबड्डी लीग द्वारा किया गया. जिसने टूर्नामेंट को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

भारत भर से आठ टीमें दुबई में जुटीं

इस ऐतिहासिक आयोजन ने भारत की महिला कबड्डी खिलाड़ियों को अपने कौशल और प्रतिभा का प्रदर्शन करने के लिए एक वैश्विक मंच प्रदान किया. आठ टीमों ने विभिन्न भारतीय राज्यों का प्रतिनिधित्व किया, जिनमें दिल्ली डायनामाइट्स, गुजरात एंजल्स, ग्रेट मराठा, हरियाणा हसलर्स, पंजाब पैंथर्स, राजस्थान राइडर्स, उमा कोलकाता और बेंगलुरु हॉक्स शामिल हैं.

टूर्नामेंट में उल्लेखनीय भागीदारी देखी गई, जिसमें भारत भर से आठ टीमें दुबई में जुटीं. जीबीएफ मध्य पूर्व के अध्यक्ष चंद्रशेखर भाटिया का कहना है कि इस आयोजन ने न केवल भारतीय कबड्डी खिलाड़ियों की असाधारण क्षमताओं को प्रदर्शित किया, बल्कि सांस्कृतिक आदान-प्रदान को भी बढ़ावा दिया और भारत और संयुक्त अरब अमीरात के बीच संबंधों को मजबूत किया.

16 से 27 जून के बीच हुआ आयोजन

स्वदेशी खेल को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले जाने के उद्देश्य से दुबई में 16 से 27 जून के बीच विमेंस कबड्डी लीग (Women Kabaddi League) का आयोजन किया गया था. इस लीग में पूरे देश से आठ टीमें मौजूद थीं, जिसमें गुजरात, महाराष्ट्र, हरियाणा, बंगाल, पंजाब, राजस्थान, कर्नाटक और दिल्ली शामिल हुई थी. इससे पहले इंदौर में विमेंस कबड्डी लीग की ट्रॉफी और एंथम सॉन्ग लांच किया गया. 

ये भी पढ़ें:  Watch: मंदसौर में 10 फीट के मगरमच्छ ने गांधी सागर जलाशय में लगाई छलांग, लोगों ने ली राहत की सांस, देखें वीडियो



Source link