Maharashtra NCP Political Crisis: एनसीपी में अजित पवार के नेतृत्व में हुई बगावत के बाद से महाराष्ट्र में सियासी तापमान बढ़ा हुआ है. राज्य में विभागों के बंटवारे को लेकर गतिरोध जारी है. इस बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता और विधायक एकनाथ खडसे ने इन सब मुद्दों पर बड़ा बयान दिया है. ‘सामना’ में छपी एक खबर के अनुसार, जलगांव में मीडिया से बातचीत करते हुए खडसे ने कहा, बीजेपी  के विधायकों में भयानक नाराजगी है, परंतु कोई बोलने को तैयार नहीं है. हालांकि, उनकी नाराजगी का विस्फोट कभी भी हो सकता है? ऐसा दावा एकनाथ खडसे ने मीडिया से बातचीत के दौरान किया.

‘वित्त विभाग मिलना निश्चित नहीं एक अनुमान है’ 
उन्होंने कहा, दस दिन पहले राज्य में मंत्रिमंडल का विस्तार हुआ था, लेकिन विभाग आवंटित नहीं किए गए हैं. अजित पवार को वित्त विभाग दिया जाएगा, यह निश्चित नहीं है, एक सिर्फ एक अनुमान है. उन्होंने आगे कहा, वैसे देखा जाए तो पिछली बार अजित पवार को वित्त विभाग दिए जाने को लेकर शिंदे गुट के विधायकों की शिकायतें आई थीं.

शिंदे के विधायक नाराज?
अब अगर ‘अजित दादा’ को दोबारा वित्त विभाग दिया गया तो शिंदे गुट के विधायक नाराजगी दिखा सकते हैं. लेकिन उन्हें वरिष्ठ नेताओं के फैसले को स्वीकार करना होगा. मंत्री पद के लिए शिंदे गुट के कई विधायक एड़ी-चोटी का जोर लगा रहे हैं. कई विधायक कह रहे हैं कि मैं मंत्री बनूंगा. मेरा शपथ ग्रहण समारोह निर्धारित है.

एकनाथ खडसे ने किया ये दावा?
खड़से ने दावा किया कि मंत्रिमंडल विस्तार और विभागों के बंटवारे को लेकर बीजेपी के विधायक भी नाखुश हैं लेकिन वे कुछ नहीं बोल रहे, जैसे बाकी दल के लोग खुलकर बोलते हैं. बीजेपी के कई विधायक मुझसे बात करते हैं और अपनी नाराजगी जाहिर करते हैं, क्योंकि बीजेपी ने एनसीपी को अपने साथ ले लिया है, इससे बीजेपी विधायक नाखुश हैं.

ये भी पढ़ें: Maharashtra Cabinet Expansion: महाराष्ट्र में शिवसेना-बीजेपी की बढ़ेगी बेचैनी? NCP के इन मंत्रियों को मिल सकता है ये विभाग



Source link